देश की तरक्की में अफवाह फैलानें वालें तत्वों को सबक सिखाएं


छतरपुर
कलेक्टर छतरपुर शीलेन्द्र सिंह ने कहा है कि देश की प्रगति एवं तरक्की में अफवाह फैलाने वाले तत्वों को सबक सिखाएं और पहरेदार बनकर कोविड टीकाकरण के लिए जागृति लाएं। हम खुदगर्ज नही सामाजिक रक्षक हैं इस भावना से आपस में जुड़े और कोविड से बचाव के लिए कोविड टीकाकरण कराएं।

श्री सिंह ने गुरूवार को आपदा प्रबंधन समिति बक्स्वाहा की समीक्षा करते हुए कहा है कि गरीबों का राशन खाने और डकारने वाले तथा काला बाजारी करने वाले असामाजिक तत्वों के खिलाफ समाज आगे आएं और उनकी कालाबाजारी को उजागर करें। जो लोग देश और समाज के दोषी है और जो अफवाह फैलाकर समाज में षडयंत्र रच रहे है उनके मनसूबों को पहचाने और उन्हें दण्डित भी कराएं। बैठक में एसडीएम राहुल सिलाड़िया, ब्लॉक आपदा समिति के सदस्य भी उपस्थित थे। सदस्यों सुझाव भी प्राप्त किए गए।

उन्होंने कहा है कि गरीबों के लिए शुरु की गई कल्याणकारी योजनाओं में होने वाले भ्रष्टाचार को समाज उजागर करे और ऐसे तत्वों को सबक भी सिखाएं। उन्होनें कहा कि देश के वैज्ञानिकों ने कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका जाहिर की है इसीलिए हम सब सतर्क रहे और बचाव के उपाय सामाजिक जीवन के व्यवहार मे अपनाएं। इसीलिए जरुरी है कि कोरोना कर्फ्यू में दी गई छूट की अवधि में कोविड संक्रमण के बचाव के व्यवहार को अपनाया जाए। जिसके लिए मास्क लगाएं, दो-गज की दूरी बनाएं, हाथों को साफ करें, भीड़ में आस-पास एक साथ न खड़े रहें जरुरी होने पर ही घर से बाहर निकलें।

उन्होनें कहा की समाज दूषित मानसिकता से भ्रम फैलाने वाले लोगों की अफवाहों में आकर कोविड टीकाकरण कराने से पीछे हट रहे हैं। हमें उन सभी लोगों को जागरुक बनाकर उनका टीकाकरण कराना होगा। ऐसा करके हम सामाजिक मानवीय जीवन की रक्षा कर सकेंगे। देश में कोरोना संक्रमण के दो दौर में सामाजिक आर्थिक गतिविधियां प्रभावित हुईं हैं और अर्थ संकट भी बना है इस स्थिति से छुटकारा पाने के लिए जरुरी है कि हम अपने आपको कोविड आपदा के संकट काल में टीकाकरण कराकर सुरक्षित बनें। समाज का कोई भी भाई-बहन टीकाकरण कराने से न छूटें यह भी देखना होगा। हमें अफवाह फैलाने वाले दुश्मन के मनसूबे को नेस्तनाबूत करना होगा। ऐसा करके हम देश के सच्चे सपूत कहलाएंगें। हम खुदगर्ज नही सामाजिक रक्षक हैं इस भावना से आपस में जुड़े और कोविड से बचाव के लिए कोविड टीकाकरण कराएं।

कलेक्टर ने बताया की कोविड संक्रमण की तीसरी बेव से बचाव के लिए आरंम्भिक तैयारियां करते हुए जरुरी दवाईयों का बंदोवस्त कर लिया गया है। जिला चिकित्सालय में आईसीयू वार्ड बनाया गया है ब्लैक फंगस के नियंत्रण एवं उपचार के लिए विशेष प्रबंध किए गए हैैं। उन्होनें कहा कि संक्रमण से लड़ने के लिए बचाव का बेहतर तरीका है समाज जागरुक होकर सुरक्षा मानकों का पालन करें और प्रशासन के साथ मिलकर लोगों को जागरुक बनाएं। जो लोग गलत दिशा और रास्तें पर भटककर जा रहे है उन्हें जागरुक करते हुए सही रास्ता दिखलाएं। उन्होंने कहा की युवाशक्ति के साथ-साथ परिवार और समाज के जागरुक और संवेदशीनल व्यक्ति सच्चे हिन्दुस्तानी होने का संकल्प लें और जहां कहीं गड़बड़ी हो जो लोग भटक गए है उन्हें मुख्यधारा में वापस लाएं। हमाओ घर हमाई जवाबदारी में युवा सहभागी बनें। इसी तरह हमाओ घर, हमाओ दफ्फतर में कर्मचारी-अधिकारी और हमाई दुकान हमाई जवाबदारी में व्यापारी और कर्मचारी सहयोग करें। इसके लिए सभी कोविड टीकाकरण खुद के साथ-साथ अपने परिवार का भी कराएं।

आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में कलेक्टर श्री शीलेन्द्र की जानकारी में बताया गया कि समिति सेवक द्वारा खाद देने के बदले में हस्ताक्षारयुक्त ब्लेंक चैक मांगा जा रहा है। कलेक्टर ने सदस्यों को साफ शब्दों में कहा कि किसी भी स्थिति में खाद के लिए ब्लेंक चैक न दें और चैक की मांग करने वाले सेवकों की कालाबाजारी को उजागर करें तथा उनकी एफआईआर भी दर्ज कराएं। इसके लिए उन्हें, एसडीएम, तहसीलदार सहित संबंधित विभाग को भी सूचना दें।

कलेक्टर ने कहा कि कृषकों की समस्या के निदान के लिए और कृषकों की वाजिब मांग के समर्थन में वे हमेशा कृषकों के साथ हैं। उन्होनें कहा कि कुछ कृषकों ने व्यापारियों का गेंहू अपने नाम से बिकवाकर खुद के साथ न्याय नहीं किया है और व्यापारी की कालाबाजारी में साथ भी दिया है। कलेक्टर ने बताया कि समितियों से 70 प्रतिशत और निजी व्यापारियों के द्वारा 30 प्रतिशत खाद का वितरण होगा। श्री सिंह ने कृषकों का आव्हान करते हुए कहा कि जो निजी व्यापारी तय दर से अध

The Naradmuni Desk

The Naradmuni Desk

The Naradmuni-Credible source of investigative news stories from Central India.